'बसंत पंचमी एकता और भाईचारे का संदेश देने वाला पर्व'

भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। व्यापारी व समाजसेवी डा.विशाल गर्ग ने बसंत पंचमी पर परिवार सहित पंतगबाजी का आनन्द लिया। डा.विशाल गर्ग ने बसंत पंचमी पर परंपरागत रूप से पीले वस्त्र पहनकर सरस्वती पूजन किया। उन्होंने सभी को बसंत पंचमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भारत में त्यौहारों का विशेष महत्व है। त्यौहारों के माध्यम से भारतीय संस्कृति की विशेषताओं का पता चलता है। उन्होंने कहा कि बसंत पंचमी का पर्व देश में सभी धर्म समुदाय के लोग मिलकर मनाते हैं। बसंत पंचमी एकता, भाईचारे व समरसता का संदेश देने वाला पर्व है। विशाल गर्ग ने कहा कि बसंत पंचमी खुशीयों के साथ मनानी चाहिए। पंतग उड़ाने के लिए परंपरागत मांझे का इस्तेमाल ही करें। चाईनीज मांझा इंसानों के साथ पशु पक्षियों के लिए भी घातक सिद्ध हो रहा है। इसलिए चाईनीज मांझे का पूरी तरह बहिष्कार करें। नरेश रानी गर्ग ने कहा कि मां सरस्वती की सच्चे मन से की गयी आराधना अवश्य ही फलदायी सिद्ध होती है। त्यौहार भारतीय संस्कृति व सनातन परंपराओं का संदेश समाज को देते हैं। बसंत पंचमी उल्लास व उमंग का पर्व है। शिक्षा की देवी सभी को बल बुद्धि व ज्ञान प्रदान करती है।


टिप्पणियाँ