किसानों की कर्जमाफी के साथ 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने की मांग

भाकियू टिकैत संसद का घेराव करेगी
भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। कर्जमाफी,स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर भारतीय किसान यूनियन टिकैत संसद भवन का घेराव करेगी। कहा कि उत्तराखंड के लोगों को तीन सौ यूनिट बिजली फ्री की जाये।  मंगलवार को प्रेस क्लब में पत्रकारवार्ता के दौरान जानकारी देते हुए भाकिूय के जिला अध्यक्ष विजय शास्त्री ने बताया कि तमाम वादे करने के बाद भी सरकार ने किसानों के हित में कोई कदम नहीं उठाया। कर्ज के बोझ तले दबे किसान आत्महत्या जैसे कदम उठा रहे हैं। मिल मालिका का कर्ज माफ किया जा रहा है। लेकिन किसान को कर्जमाफी नहीं दी जा रही है। किसानों के बार बार मांग करने के बावजूद स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू नहीं किया जा रहा है। सरकार किसानों की पूरी तरह अनदेखी कर रही है। किसानों की उपेक्षा से क्षुब्ध भाकियू ने 18 मार्च को संसद भवन का घेराव कर सरकार को जगाने का प्रयास करेगी। घेराव में पूरे देश से लाखों किसान भाग लेंगे। सरकार को किसानों के हित में कदम उठाने के लिए मजबूर किया जाएगा। प्रदेश सरकार को किसान विरोधी बताते हुए विजय शास्त्री ने कहा कि किसानों को राहत देने में विफल रही सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। प्रदेश प्रभारी महंत शिवमपुरी त्रिकालदर्शी महाराज ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों को राहत देने में पूरी तरह विफल साबित हुई हैं। उन्होंने मांग की कि किसानों का कर्ज माफ किया जाए। 300 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाए। बिजली की दर 50 पैसे प्रति यूनिट की जाए। गन्ने का भुगतान 14 दिन के अंदर किया जाए। उन्होंने कहा कि भाकियू का संसद घेराव ऐतिहासिक होगा। मांगे पूरी होने तक किसान पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि किसान नमक रोटी की लड़ाई लड़ रहा है। आयु दोगुना करने की बात करने वाली मोदी सरकार किसानों को झूठे आश्वासन देकर बहला रही है। किसानों को पत्रकारवार्ता के दौरान ओमप्रकाश नेता, जिला सचिव अश्विनी कुमार, जिला उपाध्यक्ष अर्जुन सैनी, महानगर अध्यक्ष अभिषेक शर्मा, नगर महामंत्री पुष्पेंद्र कश्यप, आशीष आदि भी मौजूद रहे।


टिप्पणियाँ