किसानों को जडी-बूटियों की खेती के गुर बताए

भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। उद्यान विभाग के तत्वाधान में भेषज विकास इकाई द्वारा किसानों को नई तकनीक से कृषि करण करने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन ज्वालापुर सराय ग्राम में किया गया। इस अवसर पर भेषज समन्वयक एके बिसारिया ने शिविर में आए किसानों को जड़ी बूटियों की खेती के साथ-साथ चंदन की खेती करने के गुर भी बताएं। उन्होंने किसानों से कहा कि समय की मांग के अनुसार हमें खेती करनी चाहिए। देश-विदेश में जड़ी बूटियों और चंदन की बाजार में भारी मांग है। जिसके चलते हमें अन्य कृषि के साथ-साथ जड़ी बूटियों की भी खेती करनी चाहिए। जिससे हमें धन लाभ भी अधिक होगा। कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डॉक्टर पुरुषोत्तम कुमार ने बताया कि हमें उन्नत खेती के लिए कृषि की नई नई तकनीकों को कृषि में प्रयोग करना चाहिए। जिससे समय की बचत के साथ साथ लागत भी कम हो ओर खेती से किसान को अधिक लाभ प्राप्त हो। इस अवसर पर एके सक्सेना, कपिल अग्रवाल, रणधीर गिरी, नवीन कुमार, मोहम्मद शकील, अनुज कुमार, सुशील शर्मा  आदि सैकड़ों लोगों ने प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया।


टिप्पणियाँ