अनियोजित विकास से जनता हो रही परेशान : अशोक शर्मा

भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। मेयर प्रतिनिधि पूर्व सभासद अशोक शर्मा ने सरकार पर अनियोजित विकास के नाम पर जनता को परेशान करने का आरोप लगाया है। पत्रकारों से  वार्ता करते हुए अशोक शर्मा ने कहा कि वर्ष 2018 में सड़क चौड़ीकरण के नाम पर जेसीबी से पूरे शहर में नालों पर डाले गए स्लैब, पीने के पानी के प्याऊ, सार्वजनिक मूत्रालय, शौचालय, व्यापारियों के जनरेटर, दुकानों, मकानों के चबूतरे, छज्जे सहित कई मकान व दुकान तक तोड़ दिए गए थे। जिससे जनता को भारी आर्थिक नुकसान के साथ शारीरिक व मानसिक कष्ट झेलना पड़ा था। विरोध करने पर जनता को धमकाया व पीटा गया। लेकिन अब अंडर ग्राऊण्ड बिजली परियोजना के नाम पर शहर की तमाम गलियों व सड़कों को खोदा जा रहा है। इसमें नगर निगम व लोक निर्माण विभाग की अनुमति भी नहीं ली जा रही है। मुख्य सड़कों के साथ छोटी छोटी गलियों को भी खोदा जा रहा है। जिससे सड़कें व गलियां संकरी हो रही हैं। भविष्य में लोगों को पानी व सीवर के कनेक्शन तथा मरम्मत आदि कराने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि भूमिगत विद्युत परियोजना के नाम पर सरकारी धन की बर्बादी की जा रही है। यदि सड़कों व गलियों को संकरा ही करना था तो चौड़ीकरण के नाम पर लोगों के मकान दुकान क्यों तोड़े गए थे। बिना किसी नक्शे व प्लान के चलायी जा रही कार्ययोजना तुरंत बंद किया जाए। भूमिगत विद्युत लाईन बिछाने से हो रही परेशानी की वजह से जब लोग विरोध करते हैं तो भाजपा नेता सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकद्मा दर्ज कराने की धमकी देते हैं। अशोक शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार लोगों को सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं करा पा रही है। राजनीतिक लाभ के लिए जिन इलाकों को भाजपा सरकार ने नगर निगम क्षेत्र में शामिल किया था। आज उन इलाकों की जनता मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है। वार्ता के दौरान पार्षद अनुज सिंह, जफर अब्बासी, पूर्व पार्षद अमन गर्ग, सुमित भाटिया, सुनील कड़च्छ आदि सहित कई कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।


टिप्पणियाँ