बीएचईएल को ' नराकास' राजभाषा शील्ड' अवार्ड

भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (नराकास) हरिद्वार द्वारा बीएचईएल को सार्वजनिक उपक्रम श्रेणी में वर्ष 2018-19 के लिए द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेश में नराकास की 29वीं अर्धवार्षिक बैठक के दौरान आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में नराकास हरिद्वार के अध्यक्ष एवं निदेशक (कार्मिक) टीएचडीसी, ऋषिकेश विजय गोयल ने महाप्रबंधक (एस एवं ओएम) ए.के.साहा एवं महाप्रबंधक (मानव संसाधन) एस.के.बवेजा को यह पुरस्कार प्रदान किया। बीएचईएल को यह सम्मान राजभाषा कार्यान्वयन एवं हिंदी के प्रचार-प्रसार में उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया गया है। संजय गुलाटी कार्यपालक निदेशक (हीप) एवं जे.पी.सिंह, कार्यपालक निदेशक (सीएफएफपी) ने नराकास राजभाषा शील्ड प्राप्त करने पर सभी कर्मचारियों को बधाई दी। उन्होंने हर्ष व्यक्त करते हुए इस उपलब्धि के लिए नराकास प्रतियोगिता के विजयी कर्मचारियों को भी अपनी शुभकामनाएं दी। पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान बीएचईएल के सौजन्य से नराकास सदस्य संस्थानों के लिए आयोजित “चित्र देखो-कहानी लिखो” प्रतियोगिता में क्रमशः तृतीय एवं प्रोत्साहन पुरस्कार प्राप्त करने वाले 2 बीएचईएल कर्मियों अरविंद डिमरी तथा हर्षद शर्मा को भी स्मृति चिह्न एवं प्रमाण-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर एम्स के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रविकांत,, अजय मलिक, उप निदेशक(कार्यान्वयन)राजभाषा विभाग, पी.के.श्रीवास्तव, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन), विनीत कुमार, उप प्रबंधक (राजभाषा) तथा शशी सिंह, वरि. राजभाषा अधिकारी भी उपस्थित रहे।
 


टिप्पणियाँ