राज्य के विकास के लिए कृषि क्षेत्र को मजबूती देनी होगी : तोमर

सरकार किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने को प्रयासरत :रावत
वरिष्ठ संवाददाता /हरिद्वार। केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि राज्य के विकास के लिए कृषि क्षेत्र को मजबूती देने होगी। गावों के विकास के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से देश की मातृ शक्ति को मजबूत बनाने का कार्य किया जा रहा है। शौचालय का निर्माण, प्रत्येक घर में गैस कनेक्शन और अपना मकान भारत सरकार सुनिश्चित करने जा रही है। केन्द्रीय मंत्री प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ जिला सहकारी बैंक के सौ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। केन्द्रीय मंत्री ने सहकारी बैंक के शताब्दी वर्ष की बधाई देते हुए कहा कि किसी भी संस्था के सौ वर्ष का सफर बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह बहुत प्रसन्नता की बात है। यह वरिष्ठ बैंक है। इसे सबके लिए आदर्श होना चाहिए। यह बैंक मार्गदर्शन का कार्य कर सकता है। कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने स्वयं सहायता समूहों को 5 लाख तक का बिना ब्याज का ऋण देकर देश के अन्य राज्यों के लिए आदर्श का कार्य किया है। उत्तराखंड के गावों में जैविक खेती और गावों के विकास के लिए खर्च किया जाएगा। उत्तराखंड के ओर्गेनिक उत्पाद देश विदेश में एक्सपोर्ट किया जा सके। शीघ्र ही किसान उड़ान योजना और किसान एक्सप्रेस योजना के अन्तर्गत मालवाहक विमान व ट्रेन शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए नए नए काम करने की कोशिश कर रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जिला सहकारी बैंक हरिद्वार के शताब्दी वर्ष समारोह के अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने हेतु लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गन्ना किसानों का 100 परसेंट पेमेंट किया है। इसके साथ ही राज्य सरकार ने खांडसारी उद्योग का लाइसेंस देना शुरू किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुड़ के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए सरकार कार्य कर रही है। गन्ने से इथेनॉल बनाने पर बल दिया जा रहा है। सरकार की योजनाएं किसानों तक पहुंच सकें इसके लिए किसानों को जागरूक होना आवश्यक है। उन्हें प्राकृतिक खेती को अपनाते हुए, बढ़ावा देना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के किसानों के लिए जीरो बजट खेती फायदेमंद हो सकती है। उन्होंने कहा कि किसान नई तकनीक का इस्तेमाल से एवं खेती की लागत कम करके अपनी आय दोगुनी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहों, गरीबी उन्मूलन और किसानों की आय दोगुनी करने के क्षेत्र में भी अच्छा कार्य हुआ।  इस अवसर पर केन्द्रीयमंत्री तथा मुख्यमंत्री ने विभिन्न महिला स्वयं सहायता समूहों को 5 लाख के ऋण के चैक वितरित किए। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री  अरविन्द पांडेय, मदन कौशिक, राज्य मंत्री धन सिंह रावत, विधायक आदेश चैहान, प्रदीप बत्रा,  संजय गुप्ता एवं देशराज कर्णवाल, जिलाधिकारी सी. रविशंकर, एसएसपी सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस., मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर, अपर निबन्धक सहकारिता विभाग श्रीमती ईरा उपे्रती, उपनिबंधक गढवाल मंडल मान सिंह सैनी, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक प्रदीप चैधरी, महाप्रबन्धक जिला सहकारी बैंक सी.के. कमल, अध्यक्ष उत्तराखण्ड राज्य सहकारी बैंक दान सिंह रावत, निबन्धक सहकारी समितियां उत्तराखण्ड बी.एम. मिश्र उपस्थित थे।


टिप्पणियां