स्वामी परमानंद गिरी को राम मंदिर ट्रस्ट में अध्यक्ष बनाया जाये


वरिष्ठ संवाददाता/हरिद्वार। श्री राम मंदिर ट्रस्ट में अखाड़ा परिषद द्वारा युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी को ट्रस्ट में अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की है। युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी श्री राम मंदिर ट्रस्ट में सदस्य के रूप में पूर्व में ही नामित हो चुके हैं। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी में आयोजित की गयी बैठक में चर्चा के दौरान अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी संत समाज के प्ररेणा स्रोत हैं और परम विद्वान हैं। राममंदिर आंदोलन के लिए उन्होंने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि करोड़ों लोगों की आस्था श्री राम मंदिर निर्माण को लेकर बनी हुई है। देश के हिंदू श्रद्धालुओं की भावना के अनुरूप ही अयोध्या में रामलला के भव्य व अद्भूत मंदिर का निर्माण होना चाहिए। भगवान श्री राम के आदर्शो को हिंदू समाज मानता चला आ रहा है। उनके आदर्शो पर चलकर अपने जीवन में खुशीयां लाएं। श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा कि युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी महाराज को ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया जाए। सभी संत महापुरूषों की यही मंशा है। आनन्द पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा कि देश ही नहीं विदेशों में भी भारतीय संस्कृति की पताका को फहराने का काम संत समाज कर रहे हैं। युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी सनातन परंपराओं का प्रचार प्रसार करते चले आ रहे हैं। धार्मिक रीति रिवाजों व क्रियाकलापों से श्रद्धालुओं को अवगत करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्रीराम मंदिर निर्माण आंदोलन में युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी मुख्य भूमिका निभा चुके हैं। ऐसे में सरकार को युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी महाराज को सम्मान स्वरूप ट्रस्ट में अध्यक्ष बनाना चाहिए। मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्र पुरी महाराज व निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रामरतन पुरी महाराज ने कहा कि युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी महाराज देवभूमि उत्तराखण्ड से लंबे समय से जुड़े है और उन्होंने राममंदिर निर्माण के लिए उत्तराखण्ड के संतों को लेकर बड़ी संख्या में अयोध्या कूच किया। इसलिए उन्हें ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया जाए। सभी संत महापुरूषों ने युगपुरूष स्वामी परमानंद गिरी महाराज को ट्रस्ट में सम्मिलित किए जाने पर केंद्र सरकार, विश्व हिन्दू परिषद, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर महंत अंबिकापुरी, स्वामी नत्थीनंद गिरी, स्वामी शंकरानंद सरस्वती, महंत गिरिजानंद सरस्वती, आचार्य मनीष जोशी, स्वामी महेश योगी, स्वामी राकेश गिरी, दिगंबर बलबीर पुरी आदि उपस्थित रहे।


टिप्पणियां