व्यापारी बोले , दिल्ली की तरह मुफ्त बिजली पानी दो

वरिष्ठ संवाददाता/हरिद्वार। महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी के नेतृत्व में बस अड्डे के बाहर एकत्र हुए व्यापारियों ने धरने के माध्यम से आवाज उठाते हुए सरकार से मांग की है कि बिजली पानी के बड़े बिलो की वापसी की जाए। साथ साथ 200 यूनिट बिजली  एवं पानी मुफ्त दे सरकार। सुनील सेठी ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में बिजली का उत्पादन होते हुए पानी का भंडारण होते हुए मंदी के दौर में बिजली पानी के बड़े हुए बिल ओर नए नए टेक्स लगाकर जनता, व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। ज्वालापुर व्यापार मंडल अध्यक्ष विनय श्रोत्रिय, जाग्रति व्यापार मंडल अध्यक्ष नाथीराम सैनी ने संयुक्त रूप से कहा कि सरकार को उत्तराखण्ड की जनता को तोहफा देते हुए ये घोषणा करनी चाहिए। क्योंकि चाहे व्यापारी हो या आम जनता सभी मंदी के दौर से गुजर रहे हैं। बढ़ती महंगाई के दौर में उत्तराखण्ड जैसे ऊर्जा प्रदेश जल प्रदेश में जनता को ये सुविधाएं अवश्य मिलनी चाहिए। तरुण व्यास ओर जितेंद्र चैरसिया ने कहा कि सरकारों को ये सोचना चाहिए कि बढ़े हुए बिजली और पानी के बिल जनता की कमर तोड़ रहे है। हर माह पानी बिजली के बढ़ते बिल जनता अब झेलने में असमर्थ है। धरने पर मुख्य रूप जिला सचिव प्रीतकमल सारस्वत, शहर अध्यक्ष तेज प्रकाश साहू, आकाश भाटी, प्रदीप मान, दीपक राणा, पंकज माटा, मनोज कुमार, दीपक पांडेय, योगेश अरोड़ा, प्रीतम सिंह, रमन सिंह, मनोज कुमार आदित्य, मुकेश अग्रवाल, रामलाल कुमार, राजेश सुखीजा, राहुल चैहान, अनूप सिंह, भूदेव शर्मा, चंदन शर्मा, राजीव अरोड़ा, देवेंद्र सिंह, आशीष कुमार, राहुल अरोड़ा, विजय शर्मा, रविन्द्र चैहान, विनोद कुमार, दीपक मेहता, रोहित नेगी, प्रमोद कुमार आदि उपस्तिथ रहे।


टिप्पणियाँ