लाॕकडाउन पर गीत

     


   


      लाॅकडाउन संजीवन 


      सुशीला रोहिला, सोनीपत हरियाणा 



         लाॅकडाउन संजीवन है
         मोदी जी यह लााये है
         महामारी  से बचना है
        सोशल डिस्टेंस रखना है
        पालन सब को करना है
        लाॅकडाउन संजीवनी है


         साबुन से हाथों को धोना है
         सेनेटाइजइर हमें लगाना है
         भारत मां का मान बढ़ाना है
         हाथों को जोड़ना है                     
         अभिवादन हमें करना है ।
         लाकॅडाउन  संजीवनी है



         घर अपने में ही रहना है
        मास्क मुंह पर लगाना है
        तन मन को स्वच्छ रखना है
        हमें भोगो में ना फंसना है
        रामायण गीता को पढ़ना है
        हरि को जान कर ही 
        हमें रोगों से निपटना है


टिप्पणियां