राजभवन में 41 किलो शहद का उत्पादन


राज्यपाल ने दिये अगले साल से मौन पालन बाक्स बढ़ाने के निर्देश


भारत नमन ब्यूरो / देहरादून |  बुधवार को राजभवन परिसर में पुष्प प्रदर्शनी के लिए रखे गये मधुमक्खियों के बक्सों से शहद निकाला गया। इस वर्ष रखे गये 04 बाॅक्स से 41 किग्रा0 शहद प्राप्त हुआ। राजभवन में मधुमक्खियों की मैलिफैरा प्रजाति रखी गई है।


 राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने अगले वर्ष से मौन पालन बॉक्स की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा की अगले वर्ष से कम से कम 15-20 बॉक्स रखे जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि राजभवन उद्यान के एक ब्लॉक को बी-ब्लॉक (मौन परिसर) के रूप में विकसित किया जाय और वर्ष में एक बार यहाँ मौन पालकों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया जाय। मौन पालन में अच्छा काम करने वाले कृषकों को इस कार्यशाला में राजभवन आमंत्रित किया जाय। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने में शहद उत्पादन का अहम योगदान हो सकता है। राज्यपाल ने कहा कि आज पृथ्वी दिवस है और पृथ्वी के पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी के संरक्षण में मधुमक्खियों का अहम योगदान है। 
       इस अवसर पर शहद उत्पादन सम्बन्धी जानकारी डाॅ0 मीनाक्षी जोशी, मुख्य उद्यान अधिकारी देहरादून द्वारा राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य को दी गयी। 
       उद्यान विभाग से शहद निष्कासन कार्य में डाॅ0 मीनाक्षी जोशी, श्री दीपक पुरोहित तथा एन0एस0 विष्ट आदि मौजूद रहे |


योगी के पिता के निधन पर राज्यपाल ने शोक जताया


दूसरी ओर आज   राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ के यमकेश्वर पौड़ी स्थित पूर्वाश्रम के पैत्रिक आवास  पहुँची। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट के निधन पर शोक व्यक्त किया और परिजनों को सांत्वना दी।


                                               


टिप्पणियां