महिला कांग्रेस का नारी निकेतन केदारपुरम पर धरना


नाबालिग लड़की के गायब और दुष्कर्म होने की घटना की उच्चस्तरीय जांच मांग 


वार्डन और सुरक्षा अधिकारी को बर्खास्त किया    जाये


भारत नमन ब्यूरो /देहरादून। 31 जुलाई। महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 24 जुलाई, 2020 को केदारपुरम स्थित नारी निकेतन में घटित घटना के विरोध में आज नारी निकेतन के समक्ष सांकेतिक धरना दिया और वहां के वार्डन तथा सुरक्षा अधिकारी को बर्खास्त करने की मांग की । धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस तरह एक नाबालिग लड़की सुरक्षा के बावजूद नारी निकेतन से गायब हो जाती है और ये घटना समाचार पत्रों के माध्यम से तब सामने आती है जब उस बच्ची के साथ बलात्कार जैसी जघन्य अपराधिक घटना घटित हो जाती है। इसी तरह की कई घटनाएं पिछले कुछ समय से नारी निकेतन मे घटित होती आ रही है जो नारी निकेतन की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बड़ा प्रश्नचिंह है। किन परिस्थितियों मे नाबालिग लड़की लापता हुई और किस परिस्थिति मे वापस आई इसकी जानकारी के लिए नारी निकेतन की वार्डन और सुरक्षा अधिकारी मौन धारण किये हुए हैं। यह प्रकरण किसी बडी साजिश की तरफ इशारा करता है। नारी निकेतन में घटी इस घटना से पूरा उत्तराखण्ड शर्मसार है तथा इससे देवभूमि की गरिमा को भारी आघात लगा है।


इस अवसर पर महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश रमन ने कहा की इस प्रकरण में उच्चस्तरीय जाँच होनी चाहिए ,वार्डन और सुरक्षा अधिकारी को बर्खास्त करना चाहिए ! राज्य के मुखिया को इस पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए 


 डॉ प्रतिमा सिंह ने कहा की देवभूमि के अंदर बच्चियों और महिलाओं के साथ इस तरह के जघन्य अपराध देवभूमि को शर्मसार करते हैं,राज्य सरकार की चुप्पी इस प्रकरण में बहुत कहानियाँ बयाँ करती हैं


 धरने मे डॉ आर पी रतूड़ी, डॉ प्रतिमा सिंह, पार्षद उर्मिला थापा,पुष्पा पवार, चंद्रकला नेगी, अनुराधा तिवारी, संध्या थापा , मधु थापा, नीरू तमंग, अनु भट्ट, सर्वेश्वरी सैनी,विजय गुप्ता, संदीप चमोली,राकेश भट्ट, आयुष सेमवाल आदि मौजूद रहे। 


 


टिप्पणियाँ