जेइइ - नीट परीक्षा को लेकर आवश्यक सुरक्षात्मक कदम उठाएं: मुख्यमंत्री

त्रिवेन्द्र रावत ने जिलाधिकारियों से कहा परीक्षार्थियों की सुरक्षा, सुविधा का पूरा ध्यान रहे 


एसके विरमानी /देहरादून। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि जेईई-नीट की आगामी परीक्षा हेतु कोरोना महामारी के दृष्टिगत आवश्यक सुरक्षात्मक कदम उठाये जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि परीक्षा में प्रतिभाग करने वाले परीक्षार्थियों की सुरक्षा और सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाए। इसके लिए शारीरिक दूरी का पूरी तरह से पालन किया जाए। हर केन्द्र में छात्रों की संख्या सीमित रखी जाए। इसके लिए आवश्यकता होने पर परीक्षा केन्द्रों की संख्या बढ़ाई जा सकती हैं। मुख्यमंत्री ने जेईई-नीट की परीक्षा को छात्रों के व्यापक हित में बताते हुए सभी आवश्यक दिशा निर्देशों का पालन करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये हैं।


हरिद्वार में प्रशासन की पूरी तैयारी, दो नोडल अधिकारी नियुक्त 


हरिद्वार संवाददाता /हरिद्वार। जेईई-नीट की परीक्षा के लिए जिला प्रशासन ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने ऑनलाइन होने वाली परीक्षा के लिए दो नोडल अधिकारी नामित किए हैं। साथ ही अभ्यर्थियों के ठहरने सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। हरिद्वार में जिले में परीक्षा के दो केंद्र बनाए गए हैं, इनमें एक हरिद्वार सिडकुल बाईपास चैक बहादराबाद में तथा दूसरा पुहाना (भगवानपुर) में। हरिद्वार केंद्र की जिम्मेदारी नोडल अधिकारी एसडीएम गोपाल सिंह चैहान को और रुड़की पुहाना केंद्र की जिम्मेदारी नोडल अधिकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल को दी गयी है। नीट की परीक्षा 13 सितंबर को होनी है, उसके लिए जेईई परीक्षा के बाद अलग से गाइडलाइन जारी होगी। नोडल अधिकारी नमामि बसंल और गोपाल सिंह चैहान ने बताया कि हरिद्वार जिले के केंद्र सामान्य रूप से गढ़वाल मंडल के अभ्यर्थियों के हैं। रहने आदि के लिए कोविड-19 के तहत जो गाइड लाइन है, वह देश के कोरोना संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित इलाकों के निवासियों पर लागू होती है। गढ़वाल मंडल का कोई जिला इसमें नहीं आता, इसलिए उन पर यह नियम लागू नहीं होगा। इसे लेकर कोई भ्रांति न रह जाये, दिशा-निर्देश दे दिए हैं। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल ने बताया कि अभ्यार्थियों, होटल- धर्मशालाओं और परीक्षा केंद्र को कोरोना को लेकर स्वास्थ्य संबंधी सभी दिशा-निर्देशों सख्ती से पालन करने, सैनिटाइजेशन आदि करने के भी निर्देश दिए हैं। दो पालियों में एक से छह सितंबर तक होने वाली इस परीक्षा के लिए तीन-तीन सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। इसके अलावा जिलाधिकारी सी. रवि शंकर ने परीक्षा केंद्रों के बाहर व्यवस्था और सुरक्षा बनाए रखने को पर्याप्त संख्या पुरुष और महिला पुलिस बल तैनात करने के लिए एसएसपी को निर्देशित किया है।


 


टिप्पणियां