राम मंदिर निर्माण के संघर्ष में योगदान करने वालों का सम्मान


विस अध्यक्ष कार्यालय पर कार्यक्रम में सजी दीपमाला, हनुमान चालीसा का पाठ 


एसके विरमानी /ऋषिकेश 4 अगस्त।अयोध्या में राम मंदिर शिलान्यास के अवसर पर आज विधानसभा अध्यक्ष के बैराज स्थित कैंप कार्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। शुभारंभ अवसर पर भगवान राम के चित्र पर दीप जलाकर पुष्प अर्पित किया गये।इस दौरान उपस्थित लोगों द्वारा राम धुन एवं हनुमान चालीसा का पाठ किया गया।



इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अपना योगदान एवं संघर्ष करने वाले संतों एवं महानुभाव को सम्मानित किया। इस दौरान श्री अग्रवाल ने दयाराम दास जी महाराज, स्वतंत्र मुनि जी महाराज, विनोद शर्मा,राकेश शर्मा, राजेंद्र रैना, अंकुर भारत कुकरेजा का माल्यार्पण कर सम्मानित किया।


विधानसभा अध्यक्ष ने इस दौरान 1990 में राम मंदिर निर्माण के प्रकरण से जुड़ा हुआ उनका संस्मरण साझा करते हुए कहा कि अयोध्या में राम शिला पूजन के दौरान उनके एवं हजारों लोगों द्वारा गांव गांव जाकर हिंदू धर्म के लिए जनजागृति की गई।श्री अग्रवाल ने कहा जब अयोध्या आने का आह्वान किया गया था तो पूरे प्रदेश में योजनाबद्ध तरीके से कारसेवकों को गिरफ्तार करने की योजना बनाई गई थी।विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें मिलाकर 52 कारसेवकों को टिहरी जेल में बंद कराया गया था।इस दौरान डोईवाला में कारसेवकों को देहरादून से टिहरी जेल ले जाते हुए हजारों की संख्या में राम भक्तों द्वारा सभी कारसेवकों को पुलिस की गाड़ियों से छुडाया गया था।श्री अग्रवाल ने कहा कि यह उस समय की मात्र एक ऐसी घटना थी श्री अग्रवाल ने कहा कि 19 दिन टिहरी जेल में रहने के बाद डोईवाला में हजारों की भीड़ ने उनका भव्य स्वागत किया था।श्री अग्रवाल ने बताया कि राम मंदिर प्रकरण के दौरान उनके पिता मांगेराम भूमिगत हुए थे एवं उनके बड़े भाई ताराचंद अग्रवाल छोटे भाई ईश्वर चंद्र अग्रवाल एवं चचेरे भाई रामनिवास को भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था।श्री अग्रवाल ने कहा कि उस दौरान उनकी मां ने डोईवाला में दुकान संभाली थी।



श्री अग्रवाल ने कहा कि बाबर के दौर में अयोध्या में राम मंदिर को तुड़वाकर मस्जिद का निर्माण कराया. पिछले पांच सदी से यह विवाद था, जिसने देश की राजनीतिक दशा और दिशा को बदल दिया है. आजादी के बाद से अबतक इस विवाद ने देश की राजनीति को प्रभावित किया है. अयोध्या को लेकर देश भर में आंदोलन किए गए, कानूनी लड़ाई भी लड़ी गई और सुप्रीम कोर्ट के जरिए राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ।उन्होंने कहा कि 5 अगस्त एक ऐतिहासिक क्षण है जिसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी आभार व्यक्त किया।श्री अग्रवाल ने जनता से आह्वान किया कि 5 अगस्त को घर पर दीए जलाकर आतिशबाजी कर मिठाइयां बांटकर इसे उत्सव के रूप में मनाए।


इस अवसर पर दया राम दास जी महाराज ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के बाद पूरे देश में रामराज्य आएगा एवं भारत फिर से विश्व गुरु बनेगा।


कार्यक्रम के अवसर पर डोईवाला के ब्लाक प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल, ऋषिकेश मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, मंडल अध्यक्ष अरविंद चौधरी, श्यामपुर मंडल अध्यक्ष गणेश रावत, जितेंद्र अग्रवाल, रवि शर्मा, जय कुमार उपाध्याय, रमेश शर्मा, कमला नेगी, पदमा नैथानी, अनीता प्रधान, अनीता राणा, शंमा पवार, अनीता तिवारी, मोनिका गर्ग, राजेश जुगलान, माधुरी गुप्ता, रोमा सहगल, रविंद्र राणा सहित अन्य लोग उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन चित्रमणि देशवाल  द्वारा किया गया।


टिप्पणियाँ