831 नये मरीजों के साथ उत्तराखंड में कोरोना 23 हजार के पार

 



देहरादून जनपद में आज फिर डबल सेंचुरी 


 भारत नमन ब्यूरो /देहरादून। कोरोना के 831 मामले आने के बाद उत्तराखंड में मरीजों की संख्या बढकर 23 हजार के पार पहुंच गई। कुल मरीज 23011 हो गये जबकि मरने वालों की संख्या 312 हो गयी।


जिलावार मरीजों की बात करें तो सबसे ज्यादा 205 मरीज आज फिर देहरादून जनपद में मिले। हरिद्वार में 163, नैनीताल में 131,पौड़ी गढ़वाल में 85, टिहरी गढवाल में 76 और उधमसिंह नगर में 63 नये मरीजों की पहचान हुई।


राज्य में एक्टिव मरीज 7187 है जबकि 15447 स्वस्थ हो चुके हैं।


देहरादून जनपद में 9 नये कंटेनमेंट जोन 


देहरादून के जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कि जनपद में नगर निगम देहरादून क्षेत्रान्तर्गत स्थित शास्त्री नगर गली नम्बर-6, एमडीडीए कालोनी सहस्त्रधारा एन्कलेव सहसस्त्रधारा रोड, नया गांव अजबपुर खुर्द नियर निलायन्स अपार्टमेंट, नया गांव हाथीबड़कला, कण्डोली राजपुर रोड़, नगर निगम ऋषिकेश क्षत्रान्तर्गत स्थित कृष्णानगर कालोनी, आईडीपीएल, वीरभद्र अपार्टमेंट 01 से 04 तक ब्लाॅक बी विस्थापित क्षेत्र, तहसील डोईवाला क्षेत्रान्र्तगत स्थित ग्राम माजरीग्रान्ट वार्ड नम्बर-11 (पाल मौहल्ला) तथ विकासनगर क्षेत्रान्तर्गत स्थित वार्ड नम्बर-10 उत्तरांचल काॅलोनी पश्चिमीवाला रोड़ तहसील विकासनगर में कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति पाये जाने के फलस्वरूप सुरक्षात्मक उपाय अपनाते हुए उक्त 9 क्षेत्रों को कन्टेंमेंट जोन घोषित किया गया है। 


ये इलाके कंटेनमेंट जोन से मुक्त 


जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि नगर निगम देहरादून क्षेत्रान्तर्गत स्थित सुरभि एन्कलेव कैनाल रोड़ जाखन, राजेश्वरी पुरम वार्ड नम्बर-95, नत्थनपुर जोगीवाला, 09 गांधी रोड निकट पंचायती मन्दिर,नगर निगम ऋषिकेश क्षेत्रान्तर्गत स्थित ग्राम खाण्ड-2 रायवाला एवं तहसील डोईवाला क्षेत्रान्तर्गत स्थित वार्ड नम्बर-3 कान्हरवाला में कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति पाये जाने के फलस्वरूप सुरक्षात्मक उपाय अपनाते हुए उक्त 5 क्षेत्रों को कन्टेंनमेंट जोन घोषित किया गया था। उक्त क्षेत्रों की 14 दिन के एक्टिव सर्विलांस किया गया उक्त क्षेत्रान्तर्गत सर्विलांस के दौरान किसी अन्य व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण नही गये तथा मुख्य चिकित्साधिकारी की संस्तुति पर उक्त क्षेत्रों को कन्टेंनमेंट जोन से मुक्त किया गया है। 


205 नये कोरोना पाजीटिव 


जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत प्राप्त हुई रिपोर्ट में 205 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव प्राप्त होने के फलस्वरूप जनपद में आतिथि तक कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 4915 हो गयी है, जिनमें कुल 3053 व्यक्ति उपचार के उपरान्त स्वस्थ हो गये हैं। वर्तमान में जनपद में 1679 व्यक्ति उपचाररत हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज जांच हेतु कुल 1609 सैम्पल भेजे गये। 


डीएम ने निजी चिकित्सालयों को दिये ये निर्देश 


जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने सभी निजी चिकित्सालयों से कहा कि उनके अस्पतालों में भर्ती होने वाले कोरोना संक्रमित व्यक्ति को जनपद कोविड केयर सेन्टर के लिए तब तक रेफर न करें जब तक कि वह रेफर करने की स्थिति में न हो। साथ ही कहा कि कोविड संक्रमित व्यक्ति को अन्य चिकित्सालय में शिफ्ट करने से पूर्व सम्बन्धित चिकित्सालय से यह सुनिश्चित कर लिया जाये की उनके यहां मरीज के लिए बैड उपलब्ध है। जिलाधिकारी ने कहा कि अस्पतालों में उपचार शुल्क तथा इससे सम्बन्धित प्रक्रिया में आईसीएमआर की गाईड लाईन का अनिवार्यतः पालन हो। इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि सभी निजी चिकित्सालय कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की सूचना अनिवार्य रूप से जिला सर्विलांस अधिकारी से साझा करेंगे तथा अपने चिकित्सालयों में आईसीयू और बैड की संख्या बढाने के प्रयास भी करेंगे। निजी चिकित्सालयों द्वारा उनसे सम्बन्धित समस्याओं के निस्तारण के लिए जिलाधिकारी से आग्रह किया, जिस पर जिलाधिकारी ने शासन स्तर पर उचित वार्ता द्वारा समस्याओं पर विचार करने का आश्वासन दिया। 


जिलाधिकारी ने इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अधिकारियों को ब्लड बैंक में ब्लड की आपूर्ति बढाने के प्रयास करने, स्वास्थ्य विभाग के वाॅलिंटियर्स कार्मिकों की पूर्ति के लिए पैरा मेडिकल स्टाफ की सूची उपलब्ध करवाने तथा एम्बुलेंस इत्यादि की क्षमताओं को बढाने में सहायता करने के निर्देश दिये। 


जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि सभी कोविड केयर सेन्टर और अस्पतालों में यथासंभव बेहतर व्यवस्था बनाये रखें तथा कोविड-19 से लड़ने के लिए सर्विलांस, कान्टेक्ट टेªसिंग, सैम्पलिंग और उपचार क्षमता को बढाया जाय। साथ ही जनपद में स्थित कोविड केयर सेन्टर की भी बीच-बीच में निगरानी की जाय तथा निजी चिकित्सालयों से भी जरूरी समन्वय बनाते हुए कार्य करें। 


बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, अपर जिलाधिकारी प्रोटोकाॅल जी.सी गुणवंत एवं वीडियाकान्फ्रेसिंग के माध्यम मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ अनुज डिमरी, सहित आईएमए की सचिव डाॅ रूपा , निजी चिकित्सालय यथा सीएमआई, मैक्स, सिनर्जी, हिमालयन जौलीग्रान्ट, कैलाश हास्पिटल के चिकित्साधिकारी सहित उपस्थित थे। 


 


टिप्पणियां