नवरात्र पर्व इस बार एक महीना बाद

 



पितृ विसर्जन अमावस्या के अगले दिन से शारदीय नवरात्र  शुरू हो जाते हैं परन्तु इस वर्ष नवरात्र पर्व एक महीने बाद शुरू होगा। शास्त्रों के अनुसार अधिक मास लगने के कारण इस वर्ष नवरात्र पर्व एक महीना विलंब से होगा।  हालांकि सामान्य रूप से आज पितृ अमावस्या की पूजा के बाद कल 18 सितंबर से नवरात्र पर्व पूजा शुरू हो जानी चाहिए थी लेकिन इस बार  18 सितंबर से 16 अक्टूबर तक अधिकमास रहेगा। इस दौरान कोई शुभ कार्य नहीं किया जा सकेगा । बताया जा रहा है कि करीब 165 साल के बाद ऐसा संयोग बन रहा है। अधिकमास को मलमास और पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। इसमें भगवान विष्णु की पूजा की जाती है।


नवरात्र कब से 


अधिकमास होने के कारण इस वर्ष शारदीय नवरात्र का पर्व एक माह बाद 17 अक्टूबर से शुरू होगा। 


17 अक्टूबर 2020:  प्रतिपदा घटस्थापना


18 अक्टूबर 2020:  द्वितीया मां ब्रह्मचारिणी पूजा


19 अक्टूबर 2020: तृतीय मां चंद्रघंटा पूजा


20 अक्टूबर 2020 :  चतुर्थी मां कुष्मांडा पूजा


21 अक्टूबर 2020: पंचमी मां स्कंदमाता पूजा


22 अक्टूबर 2020: षष्ठी मां कात्यायनी पूजा


23 अक्टूबर 2020: सप्तमी मां कालरात्रि पूजा


24 अक्टूबर 2020 :अष्टमी मां महागौरी दुर्गा महा नवमी पूजा दुर्गा महा अष्टमी पूजा


25 अक्टूबर 2020 : नवमी मां सिद्धिदात्री नवरात्रि पारण विजय दशमी ( दशहरा )  मनायी जायेगी। 


टिप्पणियां