सितम्बर को पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा


स्वस्थ शरीर ही खुशहाल भविष्य का आधार  : विनीत कुमार 


भारत नमन ब्यूरो /बागेश्वर। जनपद को कुपोषण से मुक्त कराने के लिए महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा 01 सिंतबर से 30 सिंतबर, 2020 तक पोषण माह के रूप में मनाए जाने के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के सफल क्रियाान्वयन के लिए जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी।


बैठक की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि स्वस्थ शरीर ही खुशहाल भविष्य का आधार हैं, इसी परिकल्पना को सिद्ध करने के लिए बाल विकास विभाग द्वारा 01 सिंतबर से 30 सिंतबर तक पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा हैं। उन्होने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए सभी की सहभागिता आवश्यक हैं तथा इस अभियान को एक जनआंदोलन का रूप देते हुए कुपोषण के संबंध में अधिक से अधिक लोगो को जागरूक करना हैं, ताकि हम जनपद को कुपोषण से मुक्त कर सकें। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर के लिए पौष्टिक आहार का होना नितान्त आवश्यक हैं, इसलिए यह जरूरी हैं कि गर्भवती महिलाओं को पोषण के संबंध में भी जानकारी उपलब्ध कारायी जाय। उन्होने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दियें कि पोषण माह के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के संबंध में व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार करते हुए आपसी समन्वय के साथ कार्य करें। उन्होने कहा कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने में आंगनबाडी, आशा कार्यकत्री एवं एएनएम सहित जनप्रतिनिधिनियों की भी महत्वपूर्ण भूमिका हैं, इसलिए इनका भी सहयोग लिया जाय। उन्होने कहा कि गर्भवती महिलाओ का पंजीकरण/जांच तथा समय-समय पर लगने वाले टीके आदि समय पर करवाते हुए इसकी पूर्ण जानकारी दी जाय। उन्होने कहा कि बच्चों, किशारियों तथा महिलाओं में खून की कमी होना एक बडी समस्या हैं इसके प्रभावी नियंत्रण के लिए सभी को जागरूक करना तथा पौष्टिक आहार उपलब्ध कराना जरूरी हैं, ताकि खून की कमी से होने वाले बीमारियों को कम किया जा सकें। उन्होने कहा कि राष्ट्र को कुपोषण से मुक्त करने के लिए राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत 2022 तक जो लक्ष्य रखा गया हैं उसी के आधार पर कार्यक्रम आयोजित करते हुए इनका सफल क्रियान्वयन किया जाय। उन्होने सभी उपजिलाधिकारी एवं सहायक परियोजना अधिकारी बाल विकास को उनके क्षेत्रान्तर्गत आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की लगातार मॉनिटरिंग करते हुए समीक्षा करने के निर्देश दियें। जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को निर्देश दियें कि पोषण माह के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का दिवसवार एक प्रारूप तैयार किया जाय तथा उसका पूर्ण डाटा तैयार करने को कहा। बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास राजेन्द्र प्रसाद बिष्ट ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि पोषण अभियान के अंतर्गत पोषण माह 01 सिंतबर से 30 सिंतबर, 2020 तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कियें जायेगे, जिसमें पोषण अभियान के संबंध में जानकारी, स्थानीय खाद्यान्नों की जानकारी, पौष्टिक आहार, सुनहरे एक हजार दिन, एनीमिया व डायरिया पर ऑनलाइन  सत्र, डायरिया प्रबंधन, एनीमिया प्रबंधन तथा साफ-सफाई एवं हैंड वॉश आदि कार्यक्रम आयोजित कर लोगो को जानकारी उपलब्ध करायी जायेगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0पंत, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0बी0डी0जोशी, जिला विकास अधिकारी के0एन0तिवारी, उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, काण्डा योगेन्द्र सिंह, कपकोट प्रमोद कुमार, अपर परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी प्रमोद तिवारी, भूमि संरक्षण अधिकारी गीतांजिल बंगारी, अधि0अभि0 जल संस्थान एम0के0टम्टा, जल निगम सीपीएस गंगवार, जिला पंचायत राज अधिकारी रामपाल सिंह, अपर मुख्य अधिकारी जिला अरूण बर्थवाल, अधि0अधि0 नगर पालिका राजेदव जायसी सहित संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहें। 


 


टिप्पणियां