मुश्किल में न डाल दे कोविड-19 के प्रति ढिलाई


उत्तराखंड में 420 नये मामले, देहरादून में सबसे ज्यादा 152 की रिपोर्ट पाजीटिव 


 नरेशरोहिला / कोरोना का खतरा अभी टला नहीं। जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई बरतना आपको मुश्किल में डाल सकता है। उत्तराखण्ड और विशेष रूप से देहरादून में जिस तरह से रोजाना कोरोना पाजीटिव की संख्या फिर बढ रही है, उसे देखते हुए यही कहा जा सकता है। पूरे प्रदेश में आज 420 कोरोना पाजीटिव आये जबकि 24 घन्टे में 9 लोगों की मौत हो गयी। सबसे ज्यादा 152 मरीजों की रिपोर्ट देहरादून जनपद में पाजीटिव आयी। हालांकि आज प्रदेशभर में 425 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी भी दी गयी।


जनपद वार संख्या भी देखें ---



स्टेट कोरोना कन्ट्रोल रूम कोविड - 19 के हैल्थ बुलेटिन के अनुसार वर्तमान में राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 4147 है और राज्य में रिकवरी रेट 91.51 है। रिकवरी रेट को देखते हुए घबराने की बात तो नहीं है लेकिन सावधानी बरतने की जरूरत जरूर है क्योंकि कहते हैं सावधानी हटी दुर्घटना घटी। इसलिए संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का उपयोग करना न छोड़ें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा भी है जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।


राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भी लगातार कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का पालन करने का अनुरोध लोगों से करते रहे हैं।वास्तव में इस समय खुद को और दूसरों को संक्रमण से बचाते हुए अपने काम करने हैं और इसका एक ही उपाय है। सामाजिक दूरी बनाए रखें और मास्क का उपयोग करते रहें। दिखाने लिए उसे ठोडी पर न रखें बल्कि मुंह और नाक पूरी तरह ढक कर रखें।


डीएम ने दिये निरन्तर समीक्षा करने के निर्देश 



इस बीच कोविड-19 संक्रमण के प्रसार की रोकथाम एवं प्रभावी नियंत्रण हेतु जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने जिला प्रशासन के अधिकारियों, स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निरन्तर समीक्षा करने के भी निर्देश दिए।  


  जिलाधिकारी नेे कहा कि कोविड-19 संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए प्रभावी सर्विलांस एवं गृह मंत्रालय भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु समय-समय पर जारी एस.ओ.पी में वर्णित प्राविधानों का अनिवार्यतः पालन करवाया जाए तथा मानकों का पालन न करने वालों के विरूद्ध आपदा प्रबन्धन अधिनियम में वर्णित प्राविधानों के अनुरूप कार्यवाही भी की जाए। उन्होंने जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में अवस्थित बाजारों, मण्डियों, होटल, रेस्टोरेंट के साथ ही अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन तथा मास्क का उपयोग करवाने के साथ ही समय-समय पर औचक निरीक्षण करने के निर्देश नगर मजिस्टेªट एवं समस्त उप जिलाधिकारियों को दिए। 


  जिलाधिकारी ने जनमानस से अपील करते हुए कहा कि कोविड-19 संक्रमण के प्रति सतर्क रहें सार्वजनिक स्थानों, बाजारों, विभिन्न व्यापारिक प्रष्ठिानों, होटल्स, पार्क आदि स्थानों में जाने पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, अनिवार्यतः मास्क लगाएं, स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें, अन्य को भी इसके लिए प्रेरित करें।  


  जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत प्राप्त हुई रिपोर्ट में 153 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव प्राप्त होने के फलस्वरूप जनपद में आतिथि तक कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 19369 हो गयी है, जिनमें कुल 17501 व्यक्ति उपचार के उपरान्त स्वस्थ हो गये हैं। वर्तमान में जनपद में 1038 व्यक्ति उपचाररत हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज जांच हेतु कुल 2202 सैम्पल भेजे गये। कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत बचाव एवं रोकथाम हेतु जनपद अन्तर्गत विभिन्न चिकित्सालयों में वर्तमान में 178 आईसीयू बैड रिक्त हैं। जनपद में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग न करने पर 155 व्यक्तियों के चालान किये गये।


-


टिप्पणियाँ