उक्रांद ने उठाई लोकपर्व '' इगास '' पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग

भारतनमन /देहरादून। उत्तराखंड क्रान्ति दल ने सरकार से मांग की है कि पर्वतीय लोक पर्व इगास पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करें। इगास लोक पर्व जो कि दीपावली के ग्यारह दिन के बाद आता है, जिसका की अपना महत्व आए ऐतिहासिक लोक संस्कृति से जुड़ी आस्था है।


उक्रांद के केन्द्रीय प्रवक्ता सुनील ध्यानी ने कहा है कि पर्वतीय आंचलों में पशुओं की पूजा से लेकर तथा वीर शिरोमणि माधोसिंह भंडारी की गाथाओं से जुड़ी है। राज्य को बने इन 20 वर्षो में अन्य राज्यो के लोक त्योहारों को उत्तराखंड की सरकारें वोट बैंक समझ कर मनाती आती है चाहे वो छड़ पूजा से जुड़ा त्योहार हो या अन्य, लेकिन इगास जैसे त्योहार पर सरकार केवल औपचारिकता करती आयी है। उत्तराखंड क्रान्ति दल का स्पष्ट मानना है कि उत्तराखंड के लोकपर्वो को सरकार महत्व देते हुये सांस्कृतिक तथ्यों हो इतिहास के महत्व को समझते हुये लोक पर्व इगास पर राज्य सरकार सार्वजनिक अवकाश घोषित करें।


टिप्पणियाँ