योग ध्यान बद्री पांडुकेश्वर में विराजे श्री उद्वव जी और कुबेर जी


कल 21 नवम्बर को आदि गुरू शंकराचार्य जी गद्दी सहित रावल जी श्री नर्सिंह मंदिर प्रस्थान करेंगे 


भारतनमन / पांडुकेश्वर/ जोशीमठ: 20 नवंबर। कल 19 नवंबर शाम भगवान बद्रीनारायण के कपाट बंद होने के पश्चात रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी सहित श्री उद्धव जी, कुबेर जी एवं देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारी आज योग ध्यान बद्री पांंडुकेश्वर पहुंचे। यहीं विराजेंगे शीतकाल में श्री उद्धव जी एवं श्री कुबेर जी।



आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी कल 21 नवंबर प्रात: 9 बजे नृसिंह मंदिर जोशीमठ प्रस्थान करेगी। पांडुकेश्वर में महिला मंगल दल ने देव डोलियों का स्वागत किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन दर्शनार्थ पहुंचे।



सुबह 10:15 बजे बदरीनाथ से रवाना , 1:00 बजे पांडुकेश्वर पहुंची डोली के साथ बदरीनाथ मंदिर के।मुख्य पुजारी श्रीमान रावल जी, नायब रावल जी , अपर मुख्यकार्यकारी अधिकारी बी.डी. सिंह, प्रभारी अधिकारी विपिन तिवारी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, वेदपाठी रवींद्र भट, दफेदार कृपाल सनवाल, प्रधान पांडुकेश्वर बबिता पंवार , सरिता रावत, अरविंद शर्मा , दिगम्बर पंवार, कल्याण सिंह भंडारी, परमजीत भंडारी आदि मौजूद थे।


टिप्पणियाँ