एंटी ड्रग्स टास्क फोर्स ने 1किलो अवैध चरस सहित शातिर अपराधी पकड़ा

भारतनमन / देहरादून। एंटी ड्रग्स टास्क फोर्स एसटीएफ उत्तराखंड द्वारा 1 किलोग्राम चरस के साथ एक अभियुक्त की गिरफ्तार किया गया है।

 मिली जानकारी के अनुसार स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत गठित एंटी ड्रग्स टास्क फोर्स द्वारा नशे की अवैध तस्करी के विरू़द्ध चलाये जा रहे निरंतर कारवाही के तहत गत दिवस एक अभियुक्त को थाना कनखल क्षेत्र के अंतर्गत राजकीय प्राथमिक विद्यालय मिस्सरपुर के पास 1 किलो 04 ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार किया गया। उक्त बरामद चरस की कीमत लगभग 1लाख रुपए के करीब है।

प्रभारी Anti Drugs Task Force द्वारा उप निरीक्षक प्रियंका भारद्वाज को चरस तस्करी के धंधे में लिप्त अभियुक्तों का पता लगाने व पूर्व मे गिरफ्तार व वर्तमान में जमानत पर रिहा हुए नशा तस्करों की निगरानी हेतु निर्देशित किया गया था, जिसमें गोपनीय सूचना के आधार पर कि टांडा जीतपुर गाव में चंद्रपाल पुत्र गैंदा सिंह जो कि पहले भी Anti Drugs Task Force STF द्वारा गिरफ्तार किया गया था, फिर से चरस की तस्करी कर भीकमपुर व लक्सर क्षेत्र में स्वयं बेच रहा है । संकलित सूचना के आधार पर,संयुक्त टीम( स्पेशल टास्क फोर्स की एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स व थाना कनखल पुलिस) द्वारा आज *चंद्रपाल पुत्र गैंदा सिंह निवासी टोड़ा जीतपुर, भीकमपुर थाना लक्सर जिला हरिद्वार उम्र 52 वर्ष को 1.004 किलोग्राम चरस मय मोटरसाइकिल के गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार पूछताछ करने पर अभियुक्त चंद्रपाल द्वारा बताया गया कि वह पैसों के लालच में ये काम कर रहा है आज उसने ये चरस उत्तरकाशी से मंगाई थी व लाने वाला व्यक्ति हरिद्वार से वापस चला गया है। इस चरस को वह अपने घर से छोटी छोटी मात्रा में बेचने के लिए लाया था।

🔵पूर्व आपराधिक रिकार्ड

अभियुक्त शातिर किस्म का अपराधी है तथा पूर्व में भी Anti Drugs Task Force STF द्वारा 22..02.2019 को अपने दो साथियों सहित कुल 1.350 किलोग्राम चरस सहित गिरफ्तार किया गया था। अभियुक्त के विरुद्ध थाना कनखल में उपरोक्त टीम द्वारा एन0डी0पी0एस0 एक्ट की धाराओं के अन्तर्गत मुकदमा पंजीकृत कर जानकारी एकत्रित की जा रही है।

🔴गिरफ्तार करने वाली टीम

एडीटीएफ एसटीएफ की टीम

1) उप निरीक्षक प्रियंका भारद्वाज

2) हेड कांस्टेबल प्रताप चंद 

3) कांस्टेबल अनूप नेगी 

थाना कनखल की टीम

1) उप निरीक्षक अजय कृष्ण 

2) हेड कॉन्स्टेबल पंचराम शर्मा

टिप्पणियां