निकाय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन शताब्दी वर्ष कार्यक्रम श्रृंखला का शुभारम्भ



विधानसभा कार्मिकों का प्रशस्ति पत्र देकर सम्मान

भारत नमन / देहरादून 17 दिसंबर l भारत मे विधायी निकायों के पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन शताब्दी वर्ष कार्यक्रम की श्रृंखला का आज विधानसभा अध्यक्ष  प्रेम चंद अग्रवाल  ने विधानसभा में विधिवत शुभारंभ किया । साथ ही श्री अग्रवाल  ने विगत वर्ष देहरादून में संपन्न हुए पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन की प्रथम वर्षगांठ पर विधानसभा के कार्मिकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया ।



      विधानसभा अध्यक्ष  प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि भारत में विधायी निकायों के पीठासीन अधिकारियों का प्रथम सम्मेलन 13 -14 सितंबर 1921 को शिमला में आयोजित किया गया था ! इस सम्मेलन की शताब्दी वर्ष श्रृंखला के तहत संपूर्ण देश के विधानसभाओं में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैंl



     विधानसभा अध्यक्ष  प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा है कि देहरादून में 17 -21 दिसंबर 2019 को देहरादून में संपन्न हुआ पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन में प्रस्ताव पारित किया गया था कि शताब्दी वर्ष के दौरान विभिन्न राज्यों में कार्यक्रमों के आयोजन किए जाएंगे । इसी तरह उत्तराखंड में आज कार्यक्रम का आयोजन किया गया । उन्होंने कहा है कि विगत वर्ष संपन्न हुए कार्यक्रम में विधानसभा के कार्मिकों ने पूर्ण मनोयोग से कार्यक्रम संपन्न कराया। कार्यक्रम की सफलता को लेकर विधानसभा अध्यक्ष श्री  अग्रवाल  ने कार्मिकों की प्रशंसा की और पीठ थपथपाई ।उन्होंने कहा है कि काम करने वाले कार्मिकों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। 

     इस अवसर पर विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल, चंद्र मोहन गोस्वामी, नरेंद्र रावत, राजेंद्र चौधरी, मनोज कुमार, हेमचंद्र गुरानी, संजय रावत, अजय अग्रवाल, प्रवीण जोशी, राजीव बहुगुणा, रवि बिष्ट आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन भारत चौहान ने किया।

टिप्पणियां