डीजीपी अशोक कुमार ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए गौवंश संरक्षण स्क्वाड के कार्यों की समीक्षा की


भारतनमन / देहरादून। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से  ए0पी0 अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड,  अजय रौतेला, पुलिस महानिरीक्षक, कुमायूं परिक्षेत्र, श्रीमती नीरू गर्ग, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र,  नीलेश आनन्द भरणे, पुलिस उपमहानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड के साथ "गौवंश संरक्षण स्क्वाड" के कार्यों की समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये । 

1. दोनों परिक्षेत्रों में गौवंश संरक्षण स्क्वाड में गठित टीमों द्वारा प्रत्येक जनपद के वैध एवं अवैध वध-स्थानों की सूची तैयार कर अवैध संचालित हो रहे वध-स्थानों एवं अवैध गौवंश परिवहन करने वालों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।



2. यह सुनिश्चित करें की यह स्क्वाड सक्रिय हो। इसे और प्रभावी बनाया जाए।

3. स्क्वाड में अनुभवी, समझदार एवं दक्ष कर्मियों को ही नियुक्त किया जाए।

4. स्क्वाड के पर्यवेक्षण हेतु दोनों परिक्षेत्र प्रभारियों को स्क्वाड के कार्यों की मासिक समीक्षा करने हेतु भी निर्देशित किया गया।

उल्लेखनीय है कि  21 अक्टूबर 2017 को प्रदेश के दोनों परिक्षेत्रों में गौवंश संरक्षण स्क्वाड का गठन किया गया है। गौवंश संरक्षण स्क्वाड द्वारा अब तक कुमायूं परिक्षेत्र में कुल 88 पंजीकृत अभियोगों में 176 अभियुक्तों को एवं गढ़वाल परिक्षेत्र में कुल 83 पंजीकृत अभियोगों में 101 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। 

टिप्पणियां