एम्स प्रेशर इंजरी मैनेजमेंट को अंतरराष्ट्रीय स्तर की दक्षता लाने के लिए प्रयासरत :प्रो रविकांत

 


एसके विरमानी / ऋषिकेश भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में डिपार्टमेंट ऑफ नर्सिंग सर्विसेस की ओर से प्रेशर इंजरी एविडेंस बेस्ड नर्सिंग एप्रोच विषयक कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें  प्रतिभागियों को प्रेशर इंजरी की तत्काल पहचान, बचाव व उपचार के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी । इस अवसर पर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत  ने कहा कि प्रेशर इंजरी मैनेजमेंट को अंतरराष्ट्रीय स्तर की दक्षता लाने के लिए एम्स ऋषिकेश प्रयासरत है, इसके लिए अंतरराष्ट्रीय मानक के तहत संस्थान में नर्सिंग ऑफिसर तैयार किए जा रहे हैं। निदेशक एम्स पद्श्री प्रो. रवि कांत  ने कहा कि एम्स ऋषिकेश से दक्ष नर्सेस निकट भविष्य में देश ही नहीं दुनियाभर में मरीजों को बेहतर नर्सिंग सेवाएं देंगी । 

 संस्थान में शुक्रवार को आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला का डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता जी, डीएचए प्रो. यूबी मिश्रा जी व फोरेंसिक मेडिसिन विभागाध्यक्ष प्रो. वीके बस्तिया  ने संयुक्त रूप से शुभारंभ किया। इस अवसर पर डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता जी ने कहा कि हॉस्पिटल में प्रेशर इंजरी मैनेजमेंट व ट्रीटमेंट में नर्सिंग स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जिसे संबंधित पेशे से जुड़े लोगों को ठीक से समझने की आवश्यकता है, वह तभी अस्पताल में आने वाले मरीजों की बेहतर चिकित्सा में मददगार साबित हो सकते हैं। प्रो. यूबी मिश्रा ने प्रेशर इंजरी के इतिहास पर प्रकाश डाला। उन्होंने इस दिशा में लगातार आ रहे बदलावों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने इस कार्य में फ्लोरेंस नाईटेंगल के योगदान को भी याद किया। 



 





इस अवसर पर संस्थान के पीएमआर विभाग की प्रोफेसर डा. राजलक्ष्मी अय्यर ने प्रेशर इंजरी ओवरव्यू के बारे में जानकारी दी। डिपार्टमेंट ऑफ बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी की डा. मधुबरी वाथुल्या ने प्रेशर इंजरी की ग्रेड क्लासिफिकेशन के बारे में बताया। एएनएस कमलेश व वंदना ने एविडेंस बेस्ड नर्सिंग मैनेजमेंट के बाबत जानकारी दी। इस अवसर पर डा. अनुभा अग्रवाल, डा. प्रदीप अग्रवाल, डा. मनीष शर्मा, एएनएस पुष्पा, कल्पना, जितेंद्र, ज्योतिष, नर्सिंग ऑफिसर अज्जो उन्नीकृष्णन, पंकज पुनजोत आदि मौजूद थे।

टिप्पणियां