पुलिसकर्मियों की समस्याओं के निराकरण को डीजीपी ने किया समिति का गठन

भारतनमन / देहरादून। अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने बताया कि पुलिसकर्मियों के Happiness Quotient को ध्यान में रखते हुए उनकी विभागीय एवं व्यक्तिगत समस्याओं का पारदर्शिता के साथ निस्तारण करने हेतु मुख्यालय स्तर पर  01 दिसम्बर, 2020 को पुलिस जन समाधान समिति Police Personnel Grievance Redressal Committee (PPGRC) का गठन किया गया है।

गठन से अब तक पुलिस जन समाधान समिति को कुल 366 शिकायतें/समस्याएं प्राप्त हुई हैं, जिसमें से 184 शिकायतों/समस्याओं का निस्तारण किया जा चुका है। जिन प्रकरणों का निस्तारण किया जा चुका है। निस्तारण की सूचना सम्बन्धित पुलिसकर्मी को उनके मोबाइल नम्बर पर व्हाट्सएप के माध्यम से भी प्रेषित की जा चुकी है।

समिति को प्राप्त के निस्तारण की कार्यवाही में एकरूपता के दृष्टिगत एसओपी निर्गत की गयी है। जिन प्रकरणों में जनपद, परिक्षेत्र या इकाई स्तर पर निर्णय लिया जाना है, उन्हें सम्बन्धित को कार्यवाही हेतु भेजा जाता है एवं जिन प्रकरणों में पुलिस मुख्यालय से कार्यवाही अपेक्षित होती है, उनमें समिति द्वारा निर्णय लिया जाता है। प्रत्येक शिकायत/समस्या के त्वरित निस्तारण हेतु परिक्षेत्र, जनपद और इकाई स्तर पर एक-एक नोडल अधिकारी को नियुक्त किया गया है।

इसी क्रम में  30 दिसम्बर, 2020 को एक पुलिसकर्मी की पत्नी द्वारा अपने पति के उपचार और ऑपरेशन हेतु जीवन रक्षक निधि से 08 लाख रूपए प्रदान किये जाने हेतु प्रार्थना-पत्र समिति को व्हाट्सएप किया गया। उक्त प्रकरण में मुख्यालय द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए  02 जनवरी, 2021 को पुलिसकर्मी के खाते में 08 लाख रूपए जमा किये गए।


टिप्पणियां