चमोली में आपदा के बाद जिला प्रशासन हुआ अलर्ट



डीएम आशीष श्रीवास्तव ने किया ऋषिकेश में कई इलाकों का दौरा

कई क्षेत्रों से हटाए गए लोगों को राहत कैंप में भेजा गया

  देहरादून, 7 फरवरी। जोशीमठ (चमोली) में ग्लेशियर टूटने और बांध को नुकसान पहुंचने से निचले इलाकों में जलस्तर बढ़ने के खतरे की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन देहरादून भी ऋषिकेश में गंगा के आसपास सटे इलाकों में लोगों को अलर्ट करने तथा संबंधित जनपदों को बचाव एवं राहत कार्य में आवश्यक सहयोग प्रदान करने हेतु सक्रिय हो गया। 



जिलाधिकारी देहरादून डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा सूचना मिलते ही तत्काल जनपद आपदा प्रबंधन को अलर्ट कर दिया तथा स्वयं भी ऋषिकेश , पशुलोक,बैराज, त्रिवेणीघाट और जौलीग्रांट का दौरा करते हुए ऋषिकेश में नगर निगम ऋषिकेश, राजस्व विभाग और पुलिस विभाग के सहयोग से गंगा से सटे इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए तथा अलर्ट रहने के लिए जागरूक किया गया। इसके अतिरिक्त ऋषिकेश में मायाकुंड, चंद्रेश्वर इलाके और अन्य इलाकों से सुरक्षित स्थानों के लिए हटाए गए लोगों को राहत कैंप भेजा गया और उनको वहां पर भोजन- पानी इत्यादि की समुचित व्यवस्था जा रही है।

 


जिलाधिकारी देहरादून तथा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व बीर सिंह बुदियाल द्वारा चमोली, रूद्रप्रयाग, पौड़ी जनपदों से लगातार संपर्क कर जानकारी प्राप्त की जा रही है तथा किसी भी प्रकार की मानवीय तथा अन्य आवश्यकता पड़ने पर जौलीग्रांट से जरूरी संसाधनों को भेजने हेतु संबंधित विभागों से समन्वय किया गया। जनपद देहरादून का जिला आपदा कंट्रोल रूम लगातार सूचनाओं को अपडेट करता रहा और संबंधित विभाग भी जनपद कंट्रोल रूम में अपने विभागीय स्तर पर आवश्यक सहयोग प्रदान करते रहे। 

टिप्पणियां