'' अपणु गढ़वाल अपणी संस्कृति ''

सांस्कृतिक कार्यक्रम में लोगों ने उठाया उत्तराखंडी लोकगीतों का आनंद 

विस अध्यक्ष ने की 10 कलाकारों को 5-5 हजार रुपये देने की घोषणा 

एसके विरमानी  / ऋषिकेश 12 फरवरी। ऋषिकेश के अंतर्गत विस्थापित कॉलोनी इंदिरा नगर में आज “अपणु गढ़वाल अपणी संस्कृति कार्यक्रम समिति” के तत्वाधान में लोक संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का उद्घाटन उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा विधिवत दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने अपने अध्यक्ष विवेकाधीन कोष से 10 स्थानीय कलाकारों को पाँच- पाँच हज़ार रुपये देने की भी घोषणा की।



श्री बद्री केदार लोक कला मंच एवं प्रियंका म्यूजिकल ग्रुप देहरादून द्वारा कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंडी लोक गीतों को प्रस्तुत किया गया।इस अवसर पर उपस्थित सैकड़ों लोगों ने उत्तराखंड की लोक संगीत पर आधारित गीतों का आनंद लिया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गढ़वाली भाषा का प्रयोग किया।



इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संस्कृति के संरक्षण एवं प्रोत्साहन की दिशा में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन “अपणु गढ़वाल अपणी संस्कृति कार्यक्रम समिति” की सराहनीय पहल है। प्रदेश के रीति-रिवाजों, संस्कृति और धरोहर के प्रचार-प्रसार एवं संरक्षण में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का विशेष योगदान है। इससे युवा पीढ़ी को प्रदेश की गौरवमयी संस्कृति एवं सभ्यता से रूबरू होने का मौका मिलता है।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संस्कृति संरक्षण में युवाओं का योगदान अहम है।उत्तराखंड की समृद्ध व गौरवशाली संस्कृति के संरक्षण की आवश्यकता है। युवा वर्ग इस दिशा में सकारात्मक व निर्णायक पहल कर सकता है। श्री अग्रवाल ने कहा कि बदलते परिवेश में आधुनिकता को अपनाने की होड़ है, किंतु इस दौर में संस्कृति को भुलाना एक बड़ी भूल होगी। हमें अपनी संस्कृति, मूल्यों तथा परम्पराओं को कभी नहीं भूलना चाहिए। जो लोग अपनी संस्कृति को भूल जाते हैं, उन्हें समाज भी भुला देता है और वे खुद भी खो जाते हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कलाकारों की समाज में संस्कृति के प्रचार-प्रसार में विशेष भूमिका है तथा हमें अपने क्षेत्र की परम्पराओं एवं मूल्यों को आगे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास करने चाहिए। श्री अग्रवाल ने कार्यक्रम के माध्यम से सभी कलाकारों से अपने प्रदेश की सांस्कृतिक जड़ों को सुदृढ़ करने का आह्वान किया।



कार्यक्रम की अध्यक्षता आयुर्वेद विश्वविद्यालय उत्तराखंड के कुलपति प्रोफेसर सुनील जोशी द्वारा की गई। कार्यक्रम के दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा कुसुम कंडवाल, उषा जोशी, सरला रावत, सुंदरी कंडवाल, जगत सिंह नेगी, शिव कुमार गौतम, महेंद्र सिंह, लक्ष्मी सजवान, रजनी बिष्ट, अनीता तिवारी, निर्मला उनियाल, मधु, सुशील बिष्ट, राम सिंह रावत, कमल सिंह राणा, सीएम पैन्यूली, दीपक जोशी सहित कार्यक्रम आयोजक में सुनीता थपलियाल, ज्योति शर्मा, कंचन उनियाल, संगीता रावत, सुनीत मंमगाई, भावना, प्रियंक शर्मा, सरोज देवी उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन नरेंद्र शर्मा द्वारा किया गया।

टिप्पणियाँ