स्वरोजगार और उद्योगों के लिए ऋण जुटाना अब हुआ आसान:शैलेन्द्र डिमरी



एमआईटी ढालवाला में महिला सशक्तिकरण सप्ताह का पांचवा दिन 

विशेषज्ञों ने सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी

एसके विरमानी / ऋषिकेश। मॉडर्न इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, ढालवाला में विज्ञान विभाग के तत्वाधान में महिला सशक्तिरण सप्ताह के पांचवें दिन जिला उद्योग कार्यालय नरेंद्र नगर से आमंत्रित मुख्य अतिथि शैलेंद्र डिमरी (जनरल मैनेजर) ने उद्योगों एवं स्वरोजगार योजनाओं के लिए बनी सरकारी योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। कार्यक्रम का उदघाट्न संस्थान सचिव हरगोविंद जुयाल, जिला उद्योग कार्यालय नरेंद्र नगर के जनरल मैनेजर शैलेंद्र डिमरी व विभागाध्यक्षा डॉ0 कौशल्या डंगवाल ने संयुक्त रूप से किया। मुख्य अतिथि का स्वागत डॉ0 ललित मोहन जोशी ने पुष्प-गमला भेंट कर किया। डॉ0 डंगवाल ने सरकारी ऋणों का सदुपयोग करने की सलाह दी। शैलेंद्र डिमरी ने युवाओं को स्वरोजगार, स्टार्टअप व उद्योगों के लिये दिए जाने वाले अलग-अलग प्रकार के ऋणों, उन पर मिलने वाली छूट व ऋण लौटाने के तरीकों के बारे में समझाया। उन्होंने बताया कि अगर कोई व्यक्ति एक करोड़ पर तक का ऋण लेता है तो उसको 35 लाख तक की सब्सिडी मिल सकती है। ऋण लेने के लिए आवेदन पत्र ऑनलाइन भी उपलब्ध हैं। उन्होंने छात्रों को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना व प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में बताते हुए कहा कि अब कोई भी व्यक्ति आसानी से स्वरोजगार व उद्योगों के लिए ऋण जुटा सकता है वह भी बहुत आसान तरीके से। 

सचिव हरगोविंद जुयाल ने छात्रों को विभिन्न प्रकार की स्वरोजगार परक योजनाओं का लाभ उठाने का आह्वान किया। सुबह अंतर्राष्ट्रीय कराटे कोच शिवानी गुप्ता व उनके ग्रुप ने आज भी 100 से अधिक छात्राओं को कराटे की विभिन्न मुद्राओं का प्रशिक्षण दिया। 

संस्थान निदेशक रवि जुयाल छात्रों को अपने कौशल का उपयोग करते हुए सरकारी योजनाओं का उपयोग करने की बात कही है। 

कार्यक्रम में डाॅ0 सुनील कुमार सिंह, डाॅ0 माधुरी कौशिश लिली, डाॅ0 निखिल कीर्तिपाल, डाॅ0 कमलेश कुमार भटट, आषीश गुप्ता, डाॅ0 एल0एम0 जोशी, डॉ0 निधी श्रीवास्तव,डॉ0 अनिता पाण्डे, अंशु यादव ,अजय तोमर, प्रदीप पोखरियाल, पूजा पंवार रमोला, सुमित कुमार, शुभम मिंगवाल, गीता चंदोला व सभी विभागों के छात्र तथा अध्यापक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन बी0 एड़ विभाग की छात्रा ईशा छाबडा व शिवानी प्रजापति ने किया।

टिप्पणियां