पर्यटन मंत्री महाराज और उनकी पत्नी अमृता रावत ने लगवाई कोरोना वैक्सीन



टीकाकरण को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह:महाराज

भारतनमन / देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज और उनकी पत्नी पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अमृता रावत ने आज प्रातः सीएमआई अस्पताल में जाकर कोरोना वायरस टीके की डोज लगवाई। 



टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण का आगाज करते हुए माह की शुरुआत में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने एम्‍स पहुंचकर टीका लगवाया था। इसी अभियान के तहत प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज और उनकी पत्नी पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अमृता रावत ने आज प्रातः 11 बजे सीएमआई अस्पताल में जाकर अस्पताल के डायरेक्टर डा. आर. के. जैन, डा. महेश कुलियाल और सीएमएस डा. अजीत गैरोला की देखरेख में कोरोना वायरस टीके की डोज लगवाई। 

श्री सतपाल और उनकी पत्नी श्रीमती अमृता रावत को वैक्‍सीन की पहली डोज दी गई है। दूसरी डोज उन्हें 28 दिन बाद दी जाएगी।







इस मौके पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने माह के प्रारम्भ में दूसरे चरण के टीकाकरण की शुरुआत की थी। उन्होने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर पूर्व में भ्रामक प्रचार के चलते लोगों में भय की स्थिति थी लेकिन जब प्रधानमंत्री जी ने स्वयं एम्स जाकर टीका लगवाया तो उसके बाद से लोगों में टीकाकरण को लेकर जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। श्री महाराज ने कहा कि भारत में पिछले महीने जब टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था, तब विपक्षी दलों ने सवाल उठाया था कि पीएम खुद वैक्‍सीन क्‍यों नहीं लगवा रहे हैं। मोदी ने अपनी बारी आने का इंतजार किया और फिर टीका लगवाया। 1 मार्च से देश में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत हुई जिसमें 60 साल से ज्यादा उम्र के लोग और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोग वैक्सीन लगवा रहे हैं।

कैबिनेट मंत्री श्री महाराज ने कहा कि खास बात यह है कि दूसरे चरण में सरकारी के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी टीकाकरण अभियान जोर शोर से चलाया जा रहा है। निजी अस्पतालों में वैक्सीन के एक डोज की कीमत केंद्र सरकार ने अधिकतम 250 रुपये तय की है जबकि सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन पहले की तरह फ्री रहेगी।


 

टिप्पणियां