एम्स ऋषिकेश में नर्सिंग सप्ताह का शुभारम्भ

एम्स निदेशक प्रो रविकांत 








मरीजों की बेहतर चिकित्सा सेवा नर्सों की प्राथमिकता होनी चाहिए : प्रो रविकांत 

भारतनमन / ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में शनिवार को अन्तर्राष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कान्त ने कहा कि चिकित्सा संस्थानों में नर्सों की विशेष भूमिका होती है लिहाजा मरीज को बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना उनकी प्राथमिकता होनी चाहिए। 

वर्चुअल माध्यम से आयोजित नर्सिंग सप्ताह के शुभारम्भ कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने नर्सिंग सेवा को टीम वर्क से की जाने वाली सबसे बेहतर सेवा बताया। इंटरनेशनल कांउसिलिंग ऑफ नर्स द्वारा इस वर्ष ’नर्सेज- ए वाइस टू लीड ए विजन फाॅर फ्यूचर हेल्थ केयर’ थीम पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इस मौके पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कान्त जी ने अपने संदेश में कहा कि कोविड महामारी के इस दौर में रोगियों की सेवा करने में नर्सें विशेष भूमिका निभा रही हैं। इस चुनौतीपूर्ण समय में उनका योगदान सराहनीय है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा संस्थानों में नर्सों का विशेष महत्व होता है। रोगियों की देखभाल करना, उनकी परेशानियों को समझना और उनके जीवन को बचाने के लिए नर्सों का अथक प्रयास उनके बेेहतर ज्ञान का ही प्रमाण है। निदेशक प्रो. रवि कान्त जी ने बताया कि संस्थान में नर्सिंग विद्यार्थियों के लिए शीघ्र ही एनेस्थिसिया नर्स और नर्स प्रैक्टिसनर्स पाठ्यक्रमों का संचालन शुरू किया जाएगा। 

कार्यक्रम में डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता जी ने कहा कि कोविड महामारी में भी नर्सें अपना मनोबल बनाकर रोगियों की सेवा करने में जी-जान से सेवा कर रही हैं। उन्होंने किसी भी अस्पताल में नर्सिंग सेवा को रीढ़ की हड्डी की भांति सबसे महत्वपूर्ण सेवा बताया। प्रो.मनोज गुप्ता जी ने नर्सिंग सप्ताह पर प्रकाश डालाव बताया कि फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्म दिवस 12 मई के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय नर्सिंग- डे मनाया जाता है। 

मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रोफेसर बीके बस्तिया जी ने कहा कि नर्सिंग स्टाफ का काॅन्फिडेन्स लेवल बढ़ाने के लिए कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नर्सों का ज्यादातर समय मरीजों की सेवा करते हुए कठिन वातावरण में गुजरता है। ऐसे में उनका मनोबल बढ़ाना सबकी जिम्मेदारी बनती है। 

कार्यक्रम में प्रशासनिक अधिकारी नर्सिंग डॉ.प्रदीप अग्रवाल, काॅलेज ऑफ नर्सिंग की प्राचार्य डाॅ. वसंथा कल्याणी और नर्सिंग सुपरिटेंडेंट घेवर चन्द ने भी विचार व्यक्त किए। उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस वर्ष के लिए जारी थीम के अनुरूप एम्स संस्थान में आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने नर्सिंग के क्षेत्र में फ्लोरेंस नाईटिंगल के अथक प्रयासों और दिए गए योगदान से अन्य लोगों को अवगत कराया। कार्यक्रम में संस्थान के अन्य नर्सिंग ऑफिसर और एएनएस आदि भी शामिल हुए।

टिप्पणियाँ