कालाबाजारी और जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश



पुलिस महानिदेशक ने कोरोना के मद्देनजर ली अफसरों और थानाध्यक्षों की बैठक 

भारतनमन /देहरादून। अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड द्वारा पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से पुलिस महानिरीक्षक कुमांयू परिक्षेत्र, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढवाल परिक्षेत्र, समस्त जनपदों/वाहिनियों के प्रभारियो एवं थानाध्यक्षों के साथ कोरोना से सम्बन्धित बैठक की गई ।

बैठक में पुलिस महानिदेशक महोदय द्वारा विभिन्न बिन्दुओं पर विचार विमर्श करते हुए निम्न महत्त्वपूर्ण निर्देश दिये गयेः-

1- कोरोना की जंग में मानव सेवा हेतु उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा किये जा रहें प्रयासों को मिशन हौसला का नाम दिया गया, जिसे समस्त जनपद प्रभारी अपने-अपने जनपदों प्रभावी रूप से लागू करेंगें। जिसके अन्तर्गत ऑक्सीजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी के दौरान जो लोग कालाबजारी और जमाखोरी कर रहे हैं उन पर कठोर कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे साथ ही आम नागरिकों को दवाईयां, ऑक्सीजन, प्लाज्मा, राशन इत्यादि वस्तुएं दिलाने में मदद के साथ-साथ सीनियर सिटीजन से सम्पर्क कर उनकी मदद भी की जाए।

2- यदि राज्य में जनता द्वारा कोविड कफ्र्यू का सख्ती से पालन नहीं किया जा रहा है तो कोविड कफ्र्यू के पालन हेतु समस्त सम्बन्धित अधिकारियो/थाना प्रभारियों द्वारा सख्त कार्यवाही की जाए। जिन स्थानों पर आवश्यक वस्तुओं की खरीद हेतु भीड लगाई जा रही है उन स्थानों पर 02 गज की दूरी पर गोले बनावाए जांए और उनका पालन कडाई के साथ पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए। 

यदि किसी थाना क्षेत्र में कोविड कफ्र्यू का पालन सही तरह से नहीं होता है तो जिम्मेदारी सम्बधित थाना प्रभारी की मानते हुए उसे विरूद्ध निलम्बन की कार्यवाही सीधे मुख्यालय से की जायेगी। 

3- एैसी सूचनायें आ रही हैं कि कुछ व्यक्तियों द्वारा अस्पतालों में बैड खाली होने पर उन्हें फर्जी नामों से भरे दिखाकर मंहगी कीमतों पर अन्य व्यक्तियों को बेचा जा रहा है, ऐसे अस्पतालों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। 

4- कोविड काल में मुख्यालय स्तर से अपेक्षित सूचनाओ के सम्प्रेक्षण हेतु बडे जनपदों में अपर पुलिस अधीक्षक एवं छोटे जनपदों में पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया जाए, जो वांछित डाटा प्रतिदिन पुलिस मुख्यालय को भेजेंगें। 

5- प्रत्येक जनपद में UPWWA द्वारा नोडल अधिकारी बनाए गए हैं जिनसे पुलिस कर्मी सम्पर्क कर अपनी समस्या अथवा आवश्यकता से अवगत करा सकते हैं। नोडल अधिकारी ऐसे र्किर्मयों की तत्काल सहायता उपलब्ध कराएंगें यदि समस्या का समाधान नहीं होता है तो पुलिस महानिदेशक के संज्ञान में लाऐगें।

उपरोक्त बैठक में श्री वी मुरूगेशन- पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्री अमित सिन्हा- पुलिस महानिरीक्षक, पी0/एम0, श्री ए0 पी0 अंशुमान- पुलिस महानिरीक्षक, अभिसूचना एंव सुरक्षा, श्री नीलेश आनन्द भरणे- पुलिस उपमानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था, के अतिरिक्त अन्य अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

टिप्पणियाँ