टीएचडीसी लिमिटेड कोटेश्वर परियोजना में सादगी और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाया गया 34 वां स्थापना दिवस समारोह



महाप्रबंधक ने टीएचडीसी ध्वज फहरा कर सलामी ली

कोटेश्वर परियोजना में 1221 मिलियन विद्युत यूनिट का उत्पादन 

पीपल, बरगद और फलदार पौधों का रोपण 

भारतनमन / देहरादून। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड कोटेश्वर में 34 वां स्थापना दिवस सादगी और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाया गया। महाप्रबंधक परियोजना एके घिल्डियाल ने टीएचडीसी के ध्वज को फहराया और सलामी ली। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित जनों को टीएचडीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक का स्थापना दिवस संदेश पत्र पढ़ कर सुनाया और उनकी ओर से शुभकामनाएं दीं।

इस पर महाप्रबंधक ने कहा कि कार्पोरेशन के कर्मचारी होने के नाते हम सबका यह कर्तव्य है कि इस पावन बेला में उन सभी कर्मचारियों को याद करें जिन्होंने इस कार्पोरेशन को बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कडी मेहनत, ईमानदारी और मार्गदर्शन के लिए सेवानिवृत्त कर्मचारियों का भी आभार जताया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण काल और कोविड कर्फ्यू के दौरान विषम परिस्थितियों में सरकार के निर्देश और आदेशों का अनुपालन करने के साथ-साथ जेनरेटिंग प्लांट में कार्यरत ओएंडएम कर्मचारियों और अन्य आवश्यक सेवाओं में कार्यरत कर्मचारियों के सेवा भाव के कारण ही हम देश को आवश्यकता अनुसार विद्युत आपूर्ति करने में सफल रहे। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020-21 में टिहरी काम्प्लेक्स द्वारा लगभग 4263 मिलियन विद्युत यूनिट का उत्पादन किया गया जिसमें कोटेश्वर परियोजना ने लगभग 1221 मिलियन विद्युत यूनिट का  उत्पादन कर अपना योगदान दिया। 



परियोजना द्वारा टीएचडीसी सेवा के माध्यम से प्रभावित ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आईटीआई चंबा के माध्यम से वर्तमान में 8 युवाओं को व्यवसायिक प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। केन्द्र सरकार के कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत वर्तमान में कोटेश्वर परियोजना में 11 प्रशिक्षु प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है। उन्होंने सभी कर्मचारियों और उनके परिजनों से कोरोना वैक्सीन लगने के बाद भी कोरोना से बचाव के लिए सरकार के विभिन्न आदेशों और निर्देशों का अनुपालन करने का आग्रह किया।

इस अवसर उन्होंने कोरोना वारियर के तौर पर सुश्रुत चिकित्सालय कोटेश्वर परियोजना में कार्यरत मेडिकल स्टाफ़ को प्रोत्साहन स्वरूप पुरस्कार और प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया।

उप महाप्रबंधक (कार्मिक और प्रशासन) नेल्सन लकड़ा ने भी विभागाध्यक्षों और कर्मचारियों के साथ ही सीआईएसएफ जवानों को कार्यक्रम सफल बनाने के लिए धन्यवाद दिया।

इस अवसर महाप्रबंधक ने कर्मचारियों के साथ मिलकर परियोजना क्षेत्र में झील के आसपास पीपल, बरगद और विभिन्न प्रजातियों के फलदार पौधे भी लगाए।

कार्यक्रम के दौरान वरिष्ठ अधिकारियों में अपर महाप्रबंधक एच के जिन्दल, अपर महाप्रबंधक वीके गोयल, उप महाप्रबंधक (कार्मिक एवं प्रशासन ) नेल्सन लकड़ा, कार्यक्रम व्यवस्था कमेटी के हिमांइ असवाल, प्रबंधन एस एस राणा, उप प्रबंधक आर डी ममगाई, उप प्रबंधक जेपी गोस्वामी, सहायक कमांडेंट सीआईएसएफ के अलावा अनेक वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन उप प्रबंधक गिरीश उनियाल ने किया।

टिप्पणियाँ