आपदा प्रभावित 133 परिवारों का शीघ्र होगा पुनर्वास :डाॅ धन सिंह रावत



शासन स्तर पर 9 आपदा प्रभावित गांवों की सूची तैयार 

पुनर्वास के लिए शासन ने जारी किए 13. 36 करोड़ 

 एसके विरमानी / देहरादून। सूबे में विभिन्न दैवीय आपदाओं से प्रभावित सात जनपदों के 133 परिवारों का शीघ्र पुनर्वास किया जायेगा। इन आपदा प्रभावित परिवारों की शासन स्तर पर कार्रवाही गतिमान है। आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा राज्य सरकार विस्थापन एवं पुनर्वास नीति के अंतर्गत आपदा प्रभावित परिवारों का पुनर्वास करने में जुटी है। पुनर्वास योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2021-22 के अंतर्गत अब तक 31 गांवों के 336 परिवारों का पुनर्वास कर दिया गया है। इनके पुनर्वास के लिए राज्य सरकार द्वारा रू0 13 करोड़ 35 लाख 30 हजार की धनराशि जारी की गई है। 

सूबे के आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी एक बयान में कहा कि राज्य सरकार विभिन्न दैवीय आपदाओं से प्रभावित लोगों के प्रति संजीदा है और सरकार प्राथकिता के आधार पर पुनर्वास के कार्यां में जुटी है। डा. रावत ने कहा कि पुनर्वास के कार्यों में तेजी लाते हुए शीघ्र ही 133 आपदा प्रभावित परिवारों का पुनर्वास किया जायेगा। जिसमें पिथौरागढ़ जनपद के अंतर्गत कनालीछीना तहसील के 4 परिवार, रूद्रप्रयाग जनपद की ऊखीमठ तहसील के 73 परिवार, अल्मोड़ा जनपद में 4 परिवार, बागेश्वर जनपद के अंतर्गत गरूड़ तहसील के 2 परिवार एवं कपकोट तहसील के 7 परिवार, टिहरी गढ़वाल के 21 परिवार, जनपद उत्तरकाशी के बड़कोट तहसील के 20 परिवार तथा चमोली जनपद की घाट तहसील के 2 परिवार शामिल है। डा. रावत ने कहा कि पुनर्वास योजना के अंतर्गत सभी परिवारों के पुनर्वास की कार्यवाही विभागीय स्तर पर अंतिम चरण में है। विभागीय मंत्री ने कहा कि वर्षों से शिथिल पड़े पुनर्वास के मामलों में तेजी से कार्रवाही की जा रही है। जिसका नतीजा है कि अब तक वित्तीय वर्ष 2021-22 के अंतर्गत प्रदेशभर के 336 आपदा प्रभावित परिवारों का पुनर्वास किया जा चुका है। जिसमें पिथौरागढ़ जनपद के 235 परिवार, उत्तरकाशी जनपद के 94 परिवार, अल्मोड़ा जनपद के 4 परिवार और रूद्रप्रयाग जनपद के 3 परिवार शमिल है। इन आपदा प्रभावित परिवारों के लिए राज्य सरकार द्वारा पुनर्वास मानकों के अंतर्गत रू0 13 करोड़ 35 लाख 30 हजार की धनराशि जारी की गई। डॉ. रावत ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में 258 आपदा प्रभावित परिवारों का पुनर्वास किया गया। इससे पूर्व वित्तीय वर्ष 2018-19 में 151 परिवार जबकि 2019-20 में 360 आपदा प्रभावित परिवारों का पुनर्वास किया जा चुका है। 


टिप्पणियाँ