महाभारत और रामायण सर्किट के विकास को केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट से मिले महाराज



असम राइफल्स में उत्तराखंड के लोगों की भर्ती पुनः शुरू करने का भी अनुरोध 

देहरादून व हल्द्वानी में लड़कियों की भर्ती को कैम्प लगाएं

भारतनमन / देहरादून /दिल्ली। प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने शनिवार को केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट से नई दिल्ली स्थित उनके आवास पर शिष्टाचार भेंट कर महाभारत और रामायण सर्किट के बारे में विस्तृत चर्चा की।

राज्य में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के साथ-साथ महाभारत और रामायण सर्किट के विकास को लेकर प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने शनिवार को केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट से उनके नई दिल्ली स्थित आवास पर शिष्टाचार भेंट की।



केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट से मुलाकात के दौरान उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज ने उन्हें बताया कि महाभारत और रामायण सर्किट पूरे देश के लिए महत्वपूर्ण है इसलिए उसका विकास किया जाना चाहिए। 

उन्होंने केन्द्रीय राज्य मंत्री को बताया कि बागेश्वर जनपद में स्थित सरयू ताल से सरयू नदी निकलती है। हम गंगा आरती के साथ साथ यमुना एवं सरयू नदी के आरती भी उत्तराखंड में उतारेंगे।

श्री महाराज ने केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट से अनुरोध किया कि राज्य सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जोर शोर से प्रयासरत है और इसमें उनका भी पूरा सहयोग उन्हें चाहिए। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को बताया कि राज्य में पर्यटन को विकसित करने के लिए उन्होंने साउंड और लाइट के प्रस्ताव भी दिए हैं।

उन्होंने केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट से कहा कि असम राइफल्स में उत्तराखंड के लोगों की भर्ती काफी समय से बंद पड़ी है जिसे पुनः शुरू किया जाना चाहिए। उन्होंने रक्षा राज्य मंत्री से अनुरोध किया कि सेना में लड़कियों की भर्ती के लिए देहरादून और हल्द्वानी में कैंप लगाये जाएं।



टिप्पणियाँ