बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में लोगों को फौरी राहत पहुंचाने में जुटे जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार


 भारतनमन देहरादून। जनपद में विगत दिनों से हो रही भारी वर्षा के कारण नदी नालों का जलस्तर बढ़ा है जिससे नदी नालों के किनारे बसी आबादी में जलभराव की समस्याऐं उत्पन्न हो रही है। इस पर नजर रखते हुए जिलाधिकारी डाॅ0 आर राजेश कुमार द्वारा ऐसे विभिन्न स्थानों का सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ मौका मुआवना कर वस्तु स्थिति का जायजा लेते हुए स्थानीय लोगों को फौरी राहत पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। 

  जिलाधिकारी ने आज ऋषिकेश में चंद्रभागा व गंगा नदी में बढे जल स्तर के बाद चंद्रभागा नदी किनारे बसे 90 परिवारों पर मंडरा रहे, संकट के खतरे को दूर करने के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ स्थलीय निरीक्षण कर, उन्हें पुनर्वासित किए जाने के लिए नगर निगम व ग्राम पंचायत की भूमि का सीमांकन कर कार्रवाई किये जाने के निर्देश जिला प्रशासन एवं नगर निगम के अधिकारियों को दिए। आज ऋषिकेश बाढ़ग्रस्त क्षेत्र का दौरा करने पहुंचे जिलाधिकारी ने तहसील में पहुंचने के बाद उप जिलाधिकारी डॉ अपूर्वा सिंह और तहसीलदार डॉक्टर अमृता शर्मा से पूरे ऋषिकेश क्षेत्र में जलभराव से लेकर नदी नालों में आए बाढ़ के पानी के हालात को जानने के बाद जिलाधिकारी सीधे चंद्रभागा नदी किनारे बसे झुग्गी झोपड़ी वालों के हालात जाना तथा निरीक्षण के दौरान सिंचाई विभाग, नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि नदी तट पर बसे वर्षों से 90 परिवारों का चिन्हीकरण किया गया है, जिन्हे बरसात के दौरान हर वर्ष सुरक्षित स्थान पर स्थानान्तरित किया जाता है, किन्तु नदी का जल स्तर कम होने के बाद यह लोग पुनः अपनी झोपड़ी बनाकर रहने लगते हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने स्थानीय प्रशासन को नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने बताया कि स्थानीय प्रशासन ने बाढ़ से प्रभावित होने वाले लोगों के लिए संयुक्त लोकेशन बस स्टैंड पर रैन बसेरे में रहने व खाने-पीने की व्यवस्था भी की है जहां उन्हें अभी अस्थाई रूप से रखा जाएगा। 

  जिलाधिकारी ने चन्द्रेश्वर नगर वार्ड 7 में रह रहे 90 परिवारों को आश्रय स्थल पर ही सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए उनके विस्थापन के सम्बन्ध में उपजिलाधिकारी ऋषिकेश को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इन विस्थापित परिवारों को अक्षयपात्र योजना के तहत सुखा राशन के पैकेटो का वितरण कराया गया तथा सिंचाई विभाग एवं नगर निगम ऋषिकेश को इनके आश्रय हेतु प्रस्ताव /आंगणन तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने आईएसबीटी स्थित रैन बसेरा का भी स्थलीय निरीक्षण किया तथा यहां पर सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए। उन्होंने उपजिलाधिकारी ऋषिकेश, नगर निगम एवं सिंचाई विभाग के अधिकारियों को चन्द्रभागा नदी के किनारे की बस्तियों में रह रहे लोगों को अन्यत्र बसाने के निर्देश दिए गए। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने कोविड केयर सेन्टर का निरीक्षण किया तथा सम्बन्धित चिकित्सकों को आवश्यक सैम्पलिंग एवं टीकाकरण किये जाने के निर्देश दिए।

  निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी ऋषिकेश डाॅ0 अपूर्वा सिंह, तहसीलदार डाॅ0 अमृता, नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त एम .एल.दास, सिंचाई विभाग, पुलिस विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहे ।


टिप्पणियाँ